रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है | यहाँ जानें GK In Hindi General Knowledge

रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है | यहाँ जानें GK In Hindi General Knowledge : रेलवे पटरियाँ भारी ट्रेनों का भार सहन करती हैं और यात्रियों और सामानों को उनके गंतव्य तक पहुँचाती हैं ! ये ट्रैक भारी वजन के साथ-साथ बारिश, धूप और कई प्राकृतिक आपदाओं का भी सामना करते हैं ! ये रेलवे ट्रैक लोहे से बने होते हैं, लेकिन आपने देखा होगा कि इतने पानी और हवा के संपर्क में आने के बाद भी इनमें जंग नहीं लगती है ! तो क्या आपने कभी सोचा है कि रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगती और जंग न लगने के क्या कारण हैं

रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है | यहाँ जानें GK In Hindi General Knowledge

रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है

रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है

भारतीय रेलवे से जुड़े कई सवाल लोगों के मन में चलते रहते हैं ! इस सन्दर्भ में क्या आप जानते हैं कि रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगती अगर आप इसका जवाब नहीं जानते तो जान लीजिए !

हालांकि लोग सोचते हैं कि रेल की पटरियां पूरी तरह से लोहे की बनी होती हैं, लेकिन ऐसा नहीं है ! ये पटरियां लोहे की नहीं बनी हैं. अगर ऐसा हुआ तो उनमें जंग लग जायेगी !

जंग क्यों लगती है GK In Hindi

यह जानने से पहले कि रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगती, आइए आपको बताते हैं ! कि लोहे में जंग क्यों लगती है ! जब लोहे से बनी वस्तुएं नम हवा में या गीली होने पर ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया करती हैं ! तो लोहे पर आयरन ऑक्साइड की एक भूरे रंग की परत जमा हो जाती है !

रेल की पटरियों पर जंग क्यों नहीं लगता है

यह भूरे रंग की कोटिंग लोहे की ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया के कारण आयरन ऑक्साइड बनाने के कारण होती है ! जिसे धातु का क्षरण या लोहे में जंग लगना कहा जाता है ! ऐसा नमी के कारण होता है और यह परत ऑक्सीजन, कार्बन डाइऑक्साइड, सल्फर, एसिड आदि के समीकरण से बनती है ! हवा या ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में लोहे में जंग नहीं लगता है !

General Knowledge रेलवे ट्रैक में ऐसा क्या खास है

रेलवे ट्रैक बनाने के लिए एक विशेष प्रकार के स्टील का उपयोग किया जाता है, जो लोहे से ही बनाया जाता है ! रेलवे ट्रैक स्टील और मैंगनीज को मिलाकर बनाए जाते हैं !

मैंगनीज स्टील स्टील और मैंगनीज का मिश्रण है ! इसमें 12 प्रतिशत मैंगनीज और 1 प्रतिशत कार्बन होता है ! इसके कारण ऑक्सीकरण नहीं होता या बहुत धीरे-धीरे होता है, इसलिए इसमें कई वर्षों तक जंग नहीं लगती ! जंग लगने के कारण रेलवे ट्रैक को बार-बार बदलना पड़ेगा और लागत भी काफी अधिक आती है !

ट्रैक को लंबे समय तक बदलना नहीं पड़ता है | GK In Hindi General Knowledge

रेलवे में इस प्रकार के लोहे का उपयोग करने के दो फायदे हैं, एक फायदा यह है कि इस लोहे का घनत्व अधिक होता है और यह मजबूत भी होता है ! वहीं, दूसरा फायदा यह है कि लोहे की इस गुणवत्ता के कारण पटरियों को बार-बार बदलने की जरूरत नहीं पड़ती है और वे कई वर्षों तक बिना जंग लगे उपयोग में रहती हैं !

ऐसा कौन सा देश है जहां लड़कियां शादी के लिए तरसती है, यहाँ जानें | GK In Hindi General Knowledge

जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है | GK In Hindi General Knowledge

क्या कारण है की रेल की पटरियों के बीच खाली जगह छोड़ी जाती है, कारण जानकर चौक जायेगे आप, जानें GK

ऐसा कोनसा देश है जहा शादी करने पर मिलती है सरकारी नौकरी | GK In Hindi General Knowledge

गांव में चलने वाले टॉप 6 बिजनेस आईडिया Post Office में हर महीने 3,000 जमा करने पर 2 साल में मिलेगा रिटर्न शुरू करें ये बिजनेस, लागत से पांच गुना ज्यादा होगी कमाई 20000 हजार में शुरू करे धमाकेदार बिजनेस, होगी 1 लाख की कमाई Post Office की तगड़ी स्कीम 3 हजार रुपये जमा करें मिलेंगे 10 लाख