महिलाओं को श्मशान घाट पर जानें से क्यों रोका जाता है | GK In Hindi General Knowledge

महिलाओं को श्मशान घाट पर जानें से क्यों रोका जाता है | GK In Hindi General Knowledge : आज हम आपको कैसे जानकारी के बारे में बताने जा रहे हैं! आपने मेरे बारे में जो सोचा होगा, आपने देखा होगा कि श्मशान में चिताएं जलती हैं! हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है! इसलिए श्मशान में ले जाकर दाह संस्कार किया जाता है ! देखिए, महिलाएं कभी भी श्मशान घाट क्यों नहीं जाती इसके पीछे कई बड़े कारण हैं ! क्या आपने कभी सोचा है कि जब भी किसी पुरुष या महिला की मृत्यु होती है? यूं तो घर की महिलाओं की भी भूमिका होती है, लेकिन श्मशान घाट पर सभी अनुष्ठान पुरुष ही करते हैं !

महिलाओं को श्मशान घाट पर जानें से क्यों रोका जाता है | GK In Hindi General Knowledge

महिलाओं को श्मशान घाट पर जानें से क्यों रोका जाता है

महिलाओं को श्मशान घाट पर जानें से क्यों रोका जाता है

हिंदू धर्म में 16 संस्कार होते हैं  देश में भक्ति की मिट्टी खाकर भीम के अंतिम संस्कार में 16 संस्कार किए जाते हैं ! हिंदी में मृत्यु के बाद इसके 10 संस्कार किये जाते हैं ! हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार, परिवार के सभी पुरुष मृतक की सभी यात्राओं और अंतिम संस्कार में भाग लेते हैं ! महिलाओं के लिए ये बात जानना सच माना जाता है ! ऐसे बहुत ही कम लोग होते हैं जो महिलाओं के अंतिम संस्कार में शामिल न होते हों !

आत्मा को शांति नहीं मिलती GK In Hindi

गरुड़ पुराण में वर्णित कथा के अनुसार महिलाओं का दिल पुरुषों की तुलना में कमजोर माना जाता है ! श्मशान घाट में महिलाओं के रोने की आवाज सुनकर नाचने वाले की आत्मा को शांति नहीं मिलती ! जहां महिलाएं रोती हैं वहीं जब किसी मृत व्यक्ति की चिता जलती है तो आत्मा भी रोने लगती है ! तभी हड्डियों के चटकने की आवाज आती है. कहा जाता है कि इन आवाजों से महिलाएं और बच्चे डर जाते हैं !

General Knowledge श्मशान बुरी आत्माओं का घर होता है

शास्त्रों की जानकारी से पता चलता है कि संगम घाट पर बुरी आत्माओं का वास है ! यह भी माना जाता है कि लंबे काले बाल बुरी आत्माओं या नकारात्मक ऊर्जा को दूर रखते हैं ! कि श्मशान में जलाए गए सभी लोगों को मोक्ष नहीं मिलता! उनमें से कुछ आत्मघाती हैं और वे दुष्ट आत्माएँ महिलाओं को निशाना बनाती हैं !

इसलिए महिलाओं को श्मशान घाट पर जाने की इजाजत नहीं है ! जब पुरुष दाह संस्कार की प्रक्रिया पूरी कर लेते हैं, तो वे अपने बाल चढ़ाकर वापस आ जाते हैं ! लेकिन श्मशान में महिलाओं के बाल नहीं चढ़ाए जा सकते इसलिए महिलाओं को श्मशान में नहीं जाना चाहिए !

समय के साथ रीति-रिवाज बदले सामान्य ज्ञान

अब समय बदल गया है और आपने देखा होगा कि महिलाएं भी श्मशान में जाने लगी हैं ! एक समय की बात है, राजाओं और मुगलों के युग में, एक बेटे को अपने पिता के सिंहासन के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाता था ! लेकिन पिछले कुछ वर्षों में यह प्रथा बदल गई है, अब कुछ माता-पिता अपने बेटे को विरासत का अधिकार देते हैं ! लेकिन ये मामला अंतिम संस्कार करने से जुड़ा है. ऐसा कहा जाता है कि इससे मृतक की संपत्ति में वर्षा होती है !

GK In Hindi General Knowledge महिलाओं को श्मशान घाट पर मरने की इजाजत क्यों नहीं है

वह जो परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार का नेतृत्व करता हो ! इसलिए मृतक की अपनी बेटी या पति के बजाय किसी पड़ोसी या रक्त रिश्तेदार को अंतिम संस्कार की चिता जलाने की अनुमति है ! अब इस पर कोई सवाल नहीं उठाता. पुराने समय की प्रचलित मान्यता कहती है कि पुत्र जन्म और मृत्यु के बीच का सेतु होता है ! हिंदू परंपरा का मानना है कि एक बार व्यक्ति का जीवन समाप्त हो जाता है !

सड़क पर सफेद व पीली लाइन किस लिए होती है | GK In Hindi General Knowledge

छिपकली की पूँछ कटने के बाद भी क्यों हिलती रहती है | GK In Hindi General Knowledge

आखिर रेलवे पटरियों के बीच क्यों बिछाये जाते हैं पत्थर | GK In Hindi General Knowledge

दवाई के पत्तों के पीछे लाल रंग की लाइन क्यों होती है | GK In Hindi General Knowledge

गांव में चलने वाले टॉप 6 बिजनेस आईडिया Post Office में हर महीने 3,000 जमा करने पर 2 साल में मिलेगा रिटर्न शुरू करें ये बिजनेस, लागत से पांच गुना ज्यादा होगी कमाई 20000 हजार में शुरू करे धमाकेदार बिजनेस, होगी 1 लाख की कमाई Post Office की तगड़ी स्कीम 3 हजार रुपये जमा करें मिलेंगे 10 लाख