जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है | GK In Hindi General Knowledge

जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है GK In Hindi General Knowledge : अक्सर आपने यह देखा होगा की जब हम सूर्य की रोशनी के पास जाते है तो हमारी परछाई को पीछे छोड़ते देते है ! आप ने देखा होगा की एक काली लकीर की छाया भी आपकी ऊंचाई अनुसार लबी चौड़ी होती है ! लेकिन आपने कभी यह सोचा है की जब सूर्य से आने वाली रौशनी सफ़ेद होती है तो आपकी छाया काली क्यों होती है !

जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है GK In Hindi General Knowledge

जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है

जब सूर्य से आने वाला प्रकाश सफेद तो परछाई काली क्यों होती है

सबसे पहले तो हम आपको यह बताते है की जब हम किसी चीज को कैसे देखते है इस जबाब यह है ! की जब प्रकाश की किरणे किसी चीज पर पड़ती है तो तो हम उस चीज अपने स्वभाव से प्रकाश का कुछ भाग अवशोषित कर लेते है !

और हम शेष को परावर्तित कर देते है जब भी यह परावर्तित रौशनी हमरी आँखो तक पहुँचती है  ! तो हम उस वस्तुओं लो देख पाते है इस प्रक्रिया में बहुत ही काम समय लगता है इस लिए हम यह महशुस नहीं कर पाते है !

GK In Hindi General Knowledge  कैसे सफर करती है सूर्य की किरण

जब हम किसी छोटे रोशनी देने वाली चीज को देखते है ! तो जैसे टार्च लाइट से सूर्य की किरणे आ रही है और दीवार पर पड़ रही है अगर इसके बीच में कोई ठोस चीज रख देते है ! तो क्या सूर्य की रौशनी किसी वस्तु के किनारों से निकलकर दीवार तक पहुंच जाती है तो कुछ किरणे उस वस्तु से टकराकर वापस आ जाती है !

दीवार तक नहीं जाती है को रौशनी दीवार तक नहीं पहुंचती है वह अपने पीछे एक निर्वात छोड़ जाती है  ! जिसे की हमरी परछाई मानते है परछाई काली इसलिए होती है क्योकि दीवार के उस भाग में कोई रोशनी नहीं होती है ! जिससे टकराकर कोई भी सूर्य का प्रकाश हमारी आखो तक पहुँचता है इस लिए हमें हमारी परछाई काली दिखाई देती है !

तो फिर पानी पर छाया क्यों बनती है

तो फिर पानी पर छाया क्यों बनती है? एनटीपीसी में गोकुल भारद्वाज नाम के इंजीनियर ने इसका जवाब दिया. बोले, एक गिलास में पानी ले लो. यदि गिलास खाली है तो उसमें परावर्तन बहुत कम दिखाई देगा ! लेकिन अगर इसमें पानी डाल दिया जाए तो काली छाया बनती हुई नजर आएगी !

हालाँकि, यह भी धुंधला होगा और ठोस वस्तु की तरह पूरी तरह काला नहीं होगा ! पानी और कांच दोनों पारदर्शी माध्यम हैं ! जब गिलास खाली था, तो प्रकाश पहले हवा से और फिर कांच से, फिर कांच से और फिर हवा से होकर गुजरा ! लेकिन जैसे ही आपने गिलास में पानी भरा, प्रकाश पहले हवा से होकर गुजरा, फिर कांच से, फिर पानी से और फिर हवा से ! इसलिए यह थोड़ा धुंधला हो जाता है !

GK In Hindi अंतरिक्ष में स्थिति

अंतरिक्ष में भी यही होता है, सूर्य हमें तभी दिखाई देता है जब हम उसकी ओर देखते हैं और उसकी रोशनी हमारी आंखों तक पहुंचती है ! और यही कारण है कि अंतरिक्ष काला या अंधकार में डूबा हुआ दिखाई देता है !

वास्तविकता तो यह है कि अंतरिक्ष एक ऐसा कमरा है जिसमें न तो दीवारें हैं और न ही पदार्थ के कोई कण हैं और जो पिंड हैं वे बहुत दूर-दूर हैं ! जब हम चंद्रमा, बृहस्पति या अन्य ग्रहों को देखते हैं, तो वास्तव में हम उनसे टकराकर लौटती हुई सूर्य की रोशनी ही देखते हैं !

तभी जब आंखों तक रोशनी पहुंचती है General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge : यहां एक और बात ध्यान देने वाली है कि कमरे में टॉर्च जल रही है, इसका पता हमें तभी चलता है, जब हम टॉर्च से निकलने वाली रोशनी को सीधे देख पाते हैं !

या फिर कमरे में मौजूद वस्तुओं (हवा के कणों सहित) से टकराने वाली रोशनी हमारी आंखों तक पहुंच सकती है ! इसका मतलब यह है कि वैक्यूम और दीवारों से रहित कमरे में हम केवल वही टॉर्च देख पाएंगे जिनकी रोशनी हमारी आंखों तक पहुंच रही है !

क्या कारण है की रेल की पटरियों के बीच खाली जगह छोड़ी जाती है, कारण जानकर चौक जायेगे आप, जानें GK

ऐसा कोनसा देश है जहा शादी करने पर मिलती है सरकारी नौकरी | GK In Hindi General Knowledge

मनुष्य के पाद के बारे में रोचक तथ्य | GK In Hindi General Knowledge

गांव में चलने वाले टॉप 6 बिजनेस आईडिया Post Office में हर महीने 3,000 जमा करने पर 2 साल में मिलेगा रिटर्न शुरू करें ये बिजनेस, लागत से पांच गुना ज्यादा होगी कमाई 20000 हजार में शुरू करे धमाकेदार बिजनेस, होगी 1 लाख की कमाई Post Office की तगड़ी स्कीम 3 हजार रुपये जमा करें मिलेंगे 10 लाख